घर-घर🏣नेता🤠,

घर-घर🏫खाई⛲️

लगता है🤔बड़ी महंगाई🏪🗼

💥💥💥💥💥💥💥💥

⚜️अक्सर सवाल उन्हीं पर उठाया जाता है

जिसके नियत पर दाग पड़ जाता है🤔

🔱सहारा वहीं देता है,
जिसके पास भगवान का दिया अल्प होता है.
क्योंकि वह दर्द को पहचानता है l


🔱वह नहीं देता है,
जिसके पास भगवान का दिया अधिक होता है.
क्योंकि उनका किसीसे भय नहीं होता है l

कुछ पल साथ ओर…पर मैं महल को निकल पड़ा

तू बैठी रही, मैं ठहरा रहा

तू घूमशुम रही, मैं चक्कर काटता रहा

आँखे चुराती रही, मैं बिलखता रहा

चाँद मेरा तू…….

बादलों से निकल है आया

पुकार तेरा,

मेरा दिल को है भाया !

सुनहरा पल आज आशमानो मे जो छाया

भटकता रहा! हाँ, मैं बिलखता रहा

ऐम्‌ˈबिश्‌न्‌ को ठोंकराके,

तुझे लाइफ की सोलुशन जो बनाया l

तू बैठी रही, मैं ठहरा रहा ll

तू भी थी और मैं भी था,

आशियाना का वोह छिपा कल की राज था

तेरी नज़र पे प्यास था,

और मेरा नज़र प्यासा फिर रहा l

इश्क़ भी था, प्यार भी था

साँसो पर ले रहे ऑक्सीजन मे,

बस एक-दूसरे के ही नाम था l

हटने को कह तू मैं करीब को आया

सोच मे दिमाग़ मे अनोखे जज़्बा है साया

दिल और दिमाग़ से लब्ज एक ही आया

आँख-बीचोनी खेल मे दिल है आज मनचला

बिन बात की हंसी तेरी मैं भी रोक ना पाया

तरसता रहा मैं, तेरी आस जग रहा

सोये हुए अरमानो का है तूने जगाया

दिल को दिवाली सा तूने जगमगाया

सब कुछ भुला तू,

उस घड़ी मज़ा को है मेरा लुटा

ख्यालो मे ख्याबो मे अरमानो को है मेरा जगाया

मैं ठहरा रहा, तू भाव देती रही

भटकता रहा ! हाँ, मैं बिलखता रहा l

कुछ पल साथ ओर गवाने की,

इच्छा भी जाहिर तूने जताया l

समय का पाबंद हूँ मैं रास्ते मे ठहर पड़ा

फरिश्ता सा मैं महल को निकल पड़ा ll

💠नोटबंदी का काला-सफ़ेद सच : –

1️⃣पहली बार आजादी से पूर्व सरकार ने 500, 1000 और 10000 रुपए के नोटों पर प्रतिबंध लगाते हुए 11 जनवरी 1946 से इन नोटों को अवैध करार दिया था.

2️⃣दूसरी बार नोटबंदी का ऐसा फैसला 1978 में भी हुआ था.काले धन पर नियंत्रण पाने के लिए 16 जनवरी 1978 को सरकार ने 1000, 5000 और 10,000 के नोटों को सर्कुलेशन से हटाने की घोषणा कर दी।इस दौरान सरकार ने 1000, 5000 और 10000 हजार के नोटों को बंद कर दिया था.

3️⃣तीसरी बार प्रधानमंत्री मोदी ने 8 नवंबर, 2016 को 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने का ऐलान किया,लोगों को 30 दिसंबर तक का समय दिया गया था कि वह अपने पुराने नोट को बदल लें। मोदी सरकार के इस फैसले का कई विपक्षी पार्टियां विरोध भी जताई हैं। आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस तो सरकार को अपना फैसला वापस लेने के लिए तीन दिन तक का अल्टीमेटम तक दे चुकी है ।

सलाह भी तो अक्सर अमीरों को दी जाती है

गरीबों के लिए तो हुक्म ही जारी की जाती है

👉दुनिया मे कई तरह के अनमोल लोग पाए जाते है :
1️⃣जैसे किसी आदमी को सिर्फ खाने आता है l

2️⃣तो कोई भर पेट खाने का ढोंग करता है (ताकि किसी दूसरे की पेट भर सके).

🆒ओर इसकी सबसे बड़ी वजह हमारी सिस्टम है l

⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️⚜️